MSME Loan Scheme in Hindi

MSME Loan Scheme in Hindi | MSME की पूरी जानकारी हिंदी में

MSME Loan Scheme in Hindi पूरी जानकारी. MSME का full form ‘Micro, Small and Medium Enterprises’ होता है अर्थात ‘सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योग’. किसी भी देश की अर्थव्यवस्था में सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यमों की ख़ास भूमिका होती है तथा यह बड़ी संख्या में रोजगार पैदा करते हैं. भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योग मंत्रालय के द्वारा MSME उद्योगों के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं.

दोस्तों जैंसा कि नाम से ही पता चलता है कि MSME loan scheme कोई लोन योजना है. आप ने भी इस Scheme के बारे में कभी न कभी सुना जरूर होगा. यह भारत देश में मौजूद सूक्ष्म, मध्यम तथा लघु उद्योगों के लिए बहुत ही लाभदायक योजना है. यदि आपका भी कोई सूक्ष्म, लघु अथवा मध्यम उद्योग है तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें.

MSME in Hindi

इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे कि MSME loan scheme क्या है, इसके क्या लाभ है, क्या योग्यता हैं, कैंसे इसके लिए Registration करें, Registration के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैं आदि.

MSME Loan Scheme क्या है?

भारत के आर्थिक विकास में भी MSME उद्यमों का महतवपूर्ण योगदान है. MSME उद्यमों के समक्ष बहुत सी चुनौतियां होती हैं. इन्हें आसानी से लोन नहीं मिलता जिस वजह से ये अपने व्यवसाय को बढ़ने में असक्षम रहते हैं. लेकिन भारत सरकार ने भी MSME उद्यमों के लिए कुछ नियम बनाए हैं और MSME व्यवसायों को जो लोन दिया जाता है उसे MSME loan scheme के अन्दर रखा गया है तथा इसे MSME loan कहा जाता है.

MSME Loan ज्यादातर शुरूआती तथा छोटे व्यवसाय के मालिकों को दिए जाते हैं. MSME लोन की भुगतान अवधि सबके लिए अलग-अलग होती है तथा ब्याज दर मुख्यतः आवेदक की प्रोफाइल, व्यवसाय के इतिहास, लोन की अवधि तथा लोन की राशि आदि पर निर्भर करती है.

Business loan की योग्यताएं बहुत से MSME उद्यमी पूर्ण नहीं कर पाते हैं. MSME loan की नियम व शर्तें भारत सरकार तथा RBI द्वारा निर्धारित किये गए हैं जो कि business loan से अलग हैं. MSME loan असुरक्षित लोन कहलाते हैं जो कि बैंकों तथा NBFC द्वारा दिए जाते हैं यदि आवेदक आवश्यक शर्तों तथा योग्यताओं को पूर्ण करता है तो.

MSME loan के लिए बहुत सी सरकारी योजनायें हैं जिनमें MSME व्यवसायों को विभिन्न प्रकार के लाभ दिए जाते हैं. वहीँ वर्तमान समय में बहुत से प्राइवेट बैंकों के द्वारा भी MSME loan दिए जाते हैं. MSME Loan के लिए MSME पंजीकरण होना आवश्यक है. MSME पंजीकरण के द्वारा यह सुनिश्चित किया जाता है कि आपका व्यवसाय MSME के अंतर्गत आता है.

MSME पंजीकरण से होने वाले लाभ

अधिकतर बैंक एवं वित्तीय संस्थान MSME को पहचानते है तथा MSME loan में business loan की अपेक्षा 1 से 1.5 प्रतिशत की छूट दी जाती है अर्थात ब्याज की दर सामान्य से कम लगती है.

MSME व्यवसायों को राज्य सरकार द्वारा बिजली तथा कर में विशेष रूप से सब्सिडी एवं छूटें दी जाती हैं. वहीँ राज्य सरकार द्वारा MSME व्यवसायों को बिक्री कर एवं औद्योगिक स्तर पर विशेष रूप से छूट दी जाती है एवं विभिन्न प्रकार की सब्सिडी प्रदान की जाती है.

MSME में पंजीकृत व्यवसायों को विभिन्न प्रकार के सरकारी लाइसेंस एवं प्रमाणीकरण जल्दी तथा आसानी से मिल जाते हैं.

MSME पंजीकरण हेतु आवश्यक दस्तावेज

  1. पहचान प्रमाण पत्र के रूप में आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट इत्यादि में से कोई एक दस्तावेज.
  2. पैन कार्ड की प्रतिलिपि
  3. आवेदक की पासपोर्ट फोटो
  4. यदि किराये की संपत्ति में उद्योग करते हैं तो किरायानामा की प्रतिलिपि
  5. स्वामित्व वाली संपत्ति में उद्योग करते हैं तो स्वामित्व सौदे अथवा संपत्ति का दस्तावेज
  6. एफिडेविट अर्थात शपथ पत्र
  7. घोषणा पत्र
  8. एनओसी
  9. साक्षी के रूप में दो व्यक्ति

MSME Registraion कैंसे करें?

MSME registration करने के लिए दो तरीके है. आप Offline तथा online दोनों ही तरीकों से MSME registration कर सकते हैं. यहाँ पर हम आपको दोनों तरीके बारी बारी से बताएँगे.

Offline Registration

  1. आप जिस विभाग के अंतर्गत उद्योग शुरू कर रहे हैं, उसके साथ आवेदन पत्र में जो आवश्यक जानकारियां मांगी गयी हैं उन्हें भरें. उसके बाद आवेदन पत्र के साथ आवश्यक दस्तावेज संलग्न कर MSME office में पंजीकृत करा लें.
  2. आवेदन और दस्तावेज जमा करने से पहले किसी विशेषग्य से सारे दस्तावेज प्रमाणित करा लें, उसके बाद आवेदन जमा कर दें. आप जिस जिले में व्यवसाय की शुरूआत कर रहे हैं दस्तावेजों और आवेदन पत्र को वहां के जिला उद्योग केंद्र में जमा करा सकते हैं.
  3. आपके जमा कर देने के बाद जिला उद्योग केंद्र द्वारा आपके आवेदन तथा दस्तावेजों को MSME registrar के पास जमा किया जाता है जहाँ जांचकर्ता द्वारा उनका सत्यापन किया जाता है. सत्यापन पश्चात आवेदन स्वीकृत हो जाने पर MSME प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाता है तथा आपको कूरियर एवं ईमेल के माध्यम से
    सूचित कर दिया जाता है.

Online Registration

  1. Online registration भारत सरकार द्वारा जारी किये गए portal के माध्यम से किया जा सकता है.
    http://udyogaadhaar.gov.in/UA/UAM_Registration.aspx link में जाकर दिए गए निर्देशों के अनुसार आवश्यक जानकारियां जैंसे नाम, पता, आधार नंबर इत्यादि भरकर submit कर दें.
  2. इसके बाद आपके Registered mobile number अथवा email के माध्यम से आपको एक OTP प्राप्त होगा जिसे दर्ज करें तथा Captcha fill करके submit कर देवें.
  3. Submit करने के बाद आपका registration पूर्ण हो जायेगा तथा udyog aadhaar जारी कर दिया जाएगा. जब आप व्यवसाय की शुरुआत करते हैं तो आपको स्थायी पंजीकरण के लिए आवेदन करना होगा. आवेदन करने के पश्चात आपको स्थायी MSME प्रमाण पत्र जारी कर दिया जावेगा.

Conclusion- निष्कर्ष

जैसा कि हमने आपको इस आर्टिकल में MSME loan scheme के बारे में लगभग सारी महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध कराया है जैंसे MSME loan scheme क्या है, इससे क्या क्या लाभ है, MSME प्रमाण पत्र के लिए कैंसे आवेदन कर, इसके लिए क्या क्या आवश्यक दस्तावेज हैं

आदि. उम्मीद करते हैं ये आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा तथा इससे आपको MSME loan के बारे में बहुत सी महत्वपूर्ण जानकारियां मिली होंगी.

यदि आपको इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं. इस आर्टिकल को सोशल मीडिया में अपने दोस्तों एवं अन्य लोगों के साथ अवश्य शेयर करें ताकि वे भी इस योजना के बारे में जानें तथा इसका लाभ हासिल कर सकें.

Give a Comment