Bhartiya Rail Loco Pilot

Loco Pilot Kise Kahte Hai | लोको पायलट किसे कहते हैं?

भारतीय रेलवे में ट्रेन चालने वाले व्यक्ति को Loco Pilot / Assistant Loco Pilot RRB कहते हैं। यह सरकारी पद है जो यात्रियों को सुरक्षित गंतव्‍य तक पहुँचाता है।

Loco Pilot Kise Kahte hai | लोको पायलट किसे कहते हैं?

Bhartiya Railway main Loco Pilot ki Kya Isthiti hai | भारतीय रेलवे में लोको पायलट की क्‍या स्थिति है?

भारतीय रेलवे दुनिया की सबसे बड़ी रेल परियोजनाओं में से एक है। इसके तहत कार्य करने वाला लोको पायलट का मुख्‍य कार्य ट्रेनों में सवार मुसाफिरों को अपने गंतव्य तक सही सलामत पहुंचाना है। लोको पायलट एक चुनौतीपूर्ण जॉब है। इस पद को सम्‍भालने हेतु अभ्‍यार्थी के पास मानसि के अलावा शारीरिक रूप से भी मजबूत होना आवश्‍यक है।

लोको पायलट के पद पर पहॅुचने के लिए अभ्‍यार्थी को सबसे पहले असिस्टेंट लोको पायलट के पद से गुजरना होता है। Assistant Loco Pilot के तौर पर रेलवे में भर्ती की जाने के बाद अभ्‍यार्थी को मालगाड़ी तथा कुछ सालों के अनुभव के बाद पैसेंजर ट्रेनों के संचालन का कार्य मिलता है।

इसी श्रेणी में कार्य करते हुए कम से कम 10 वर्ष के अनुभव के बाद ही असिस्‍टेंट लोको पायलट से लोको पायलट का सफर तय होता है। इतने सालों के अनुभव के पश्‍चात ही उसे एक्सप्रेस अथवा मेल ट्रेन के संचालन का कार्य दिया जाता है।

इसके अलावा अत्‍यधिक अनुभवी लोको पायलट को ही शताब्‍दी, दुरंतो तथा राजधानी जैसी सुपर मेल या प्रीमियम ट्रेनों के संचालन का कार्य दिया जाता है। भारतीय रेलवे में लोको पायलट का पद ग्रुप सी श्रेणी के अंतर्गत रखा गया है।

यह भी पड़ें

Assistant Loco Pilot RRB ki Kya Jimmedariyan Hoti hai | असिस्टेंट लोको पायलट की क्या जिम्मेदारियां होती हैं

Assistant Loco Pilot RRB एक जिम्मेदारी भरा पद होता है जिसके ऊपर हजारों सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा की जवाबदारी होती है, इसके अलावा भी निम्न प्रकार की जिम्‍मेदारी भी शामिल हैं:-

  • सिग्नल लाइट्स दिखने पर लोकोपायलट को सही दिशा निर्देश प्रदान करना।
  • Loco Pilot द्वारा लोकोमोटिव को ठीक करने के दौरान सहायता प्रदान करना।
  • लोकोमोटिव में आने वाली किसी भी प्रकार के माइनर प्रॉब्लम्स को रिपेयर करने में लोको पायलट की सहायता करना ।
  • लोकोमोटिव की दक्षता बनाए रखने नियमित रूप से लोकोमोटिव की जाँच करना।
  • लोकोमोटिव के रखरखाव, सुरक्षा, सुरक्षा और उत्पादकता को सुचारू रूप से बनाए रखने में मदद करना।
  • Loco Pilot को ट्रेन संचालन में मदद करना।

Loco Pilot Banane ke Liye Kya Yogyata Chahiye | लोको पायलट बनने के लिए क्या योग्यता चाहिए?

10वीं एवं 12वीं परीक्षा पास अभ्‍यार्थी जिनके द्वारा इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल अथवा ऑटोमोबाइल विषय में 2 साल की आईटीआई डिपलोमा/3 वर्ष का पॉलिटेक्निक डिप्लोमा अथवा मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल अथवा ऑटोमोबाइल विषय से इंजीनियरिंग असिस्टेंट लोको पायलट हेतु आवेदन कर सकते हैं।

Loco Pilot/Assistant Loco Pilot RRB ke Liye Aavashyak Medical Yogyata Kya hai | लोको पायलट के लिए आवश्यक मेडिकल योग्यता क्या है?

असिस्टेंट लोको पायलट बनने की राह में आखरी पड़ाव मेडिकल फिटनेस परीक्षा होती है। सलेक्‍शन प्रोसेस के दौरान सभी स्टेप क्लियर करने के बाद ही अभ्यर्थी का मेडिकल टेस्ट होता है।

मेडिकल फिटनेस परीक्षा के तहत असिस्टेंट लोको पायलट हेतु अभ्यर्थी की आंखें 100% सही होनी चाहिए। अभ्‍यार्थी की दूरदृष्टि भी नियमानुसार होनी चाहिए। इसके अलावा उसे कलर ब्लाइंडनेस जैसी समस्‍या नहीं होनी चाहिए।

इनमें से कोई भी कमी पाई जाने पर अभ्‍यार्थी को पद हेतु अयोग्‍य घोषित कर दिया जाएगा।

यह भी पड़ें

Loco Pilot Banane Hetu Aavashyak Aayu Kitni Honi Chahiye | लोको पायलट बनने हेतु आवश्यक आयु कितनी होनी चाहिए?

भारतीय रेलवे द्वारा ग्रुप सी के अंतर्गत जारी किए जाने वाले Loco Pilot के विज्ञापन में अभ्यार्थी की न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु सीमा 28 वर्ष निर्धारित की गई है।

इन सबके अलावा भी आरक्षित वर्ग के अभ्यार्थियों को कैटेगरी अनुसार छूट प्रदान की जाती है।

Loco Pilot/Assistant Loco Pilot RRB ka Salary Structure Kya hai | लोको पायलट/असिस्‍टेंट लोको पायलट का सैलरी स्ट्रक्चर क्या है?

Assistant Loco Pilot RRB ka Salary Structure Kya hai

रेलवे में ग्रुप सी के तहत आने वाले लोको पायलट की सैलरी 7th Pay Matrix के अंतर्गत level-2 में बेसिक सेलरी 19900/- रूपए रखी गई है। इसके अलावा इस वेतन में कई अन्य भत्तों को भी शामिल किया गया है।

बेसिक सैलरी के अलावा असिस्टेंट लोको पायलट की सैलरी में निम्न भत्ते शमिल किये गए हैं:-

Basic Pay | मूल वेतन

  • Assistant Loco Pilot RRB हेतु 6th पे कमीशन के अनुसार Pay  Scale  5200 – 20200 के मध्‍य 1900/- ग्रेड पे निर्धारित की गई थी।
  • वर्तमान में Assistant Loco Pilot RRB की सैलरी 7th Pay Matrix के अंतर्गत level-2 में 19900/- रूपए मूल वेतन इनडक्‍स किया गया है।

Dearness Allowance(DA) | डिअरनेस एलाउंस(डीए)

  • डिअरनेस एलाउंसकी गणना मूल वेतन पर 17% की दर (वर्तमान में निर्धारित दर) से की जावेगी।

Runing Allowance | रनिंग एलाउंस

  • रनिंग एलाउंसकी गणना Loco Pilot/Assistant Loco Pilot RRB द्वारागाड़ी संचालन के दौरान कुल किलोमीटर में चली गई दूरी के आधार पर की जाती है।

Travelling Allowance(TA) | ट्रांसपोर्ट एलाउंस(टीए)

  • भारतीय रेल्‍वे द्वारा निर्धारित दरों पर इसका भुगतान संबंधित कर्मचारी को किया जाता है।

Hosue rent Allowence (HRA) | हाउस रेंट अलाउंस (एचआरए)

  • भारतीय रेल्‍वे में HRA (हाउस रेंट अलाउंस) तभी दिया जाता है, जब संबंधित Loco Pilot/Assistant Loco Pilot RRB को रेलवे द्वारा मकान अलॉट नहीं किया जाता।
  • HRA (हाउस रेंट अलाउंस) की गणना असिस्टेंट Loco Pilot की पोस्टिंग किस स्थान पर हुई है, उसके ऊपर डिपेंड करती है।
  • HRA (हाउस रेंट अलाउंस) की गणना भी मूल वेतन पर 8%, 16% अथवा 24% की दर से पोस्टिंग के स्‍थान पर आधारित होती है।

Travelling Allowence (TA) | ट्रेवलिंग अलाउंस (टीए)

  • TA (ट्रेवलिंग अलाउंस) Loco Pilot/Assistant Loco Pilot RRB की पोस्टिंग के स्थान पर निर्भर करता है। यह पोस्टिंग के स्‍थान के आधार पर यह 900/- अथवा 1800/- रुपए + डीए हो सकता है।

Running Allowance | रनिंग एलाउंस

  • ट्रेन संचालन के कार्य में Loco Pilot, सहायक लोको पायलट तथा गार्ड को रनिंग स्‍टाफ के तहत पहचाना जाता है।
  • रनिंग स्‍टाफ को अलग से दिये जाने वाले भत्‍ते को ही रनिंग एलाउंस के रूप में जानते हैं। एक मालगाड़ी का Assistant Loco Pilot RRB प्रत्येक माह कम से कम 6000 किलोमीटर का सफर तय करता है।
  • वर्तमान में भारतीय रेल्‍वे में रनिंग अलाउंस के तहत असिस्टेंट लोको पायलट या रनिंग स्‍टाफ को प्रति 100 किलोमीटर की दूरी तय करने पर 520/- रूपए निर्धारित किया गया है।

Night Duty Allowance | नाइट ड्यूटी एलाउंस

  • नाइट ड्यूटी एलाउंस से तात्पर्य रात को 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे के मध्‍य तक का समय को माना जाता है।
  • इस समय अवधि के दौरान कार्य करने वाले Assistant Loco Pilot RRB को भारतीय रेल्‍वे में नाइट ड्यूटी एलाउंस देने का प्रावधान किया गया है।

NPS (न्यू पेंशन स्कीम) के तहत डिडेक्‍शन

  • इसके अलावा असिस्टेंट लोको पायलट की सैलरी से न्यू पेंशन स्कीम के तहत 10% राशि डिडक्ट की जाती है।

वार्षिक इंक्रीमेंट्स

  • असिस्‍टेंट लोको पायलट की सैलरी में भी Basic Pay पर 3% की दर से वार्षिक इंक्रीमेंट प्रदान किया जाता है। इस प्रकार प्रतिवर्ष उसकी सैलरी में भी 3% की दर से वृद्धि होती है।

यह भी पड़ें

Over Time Allowance | ओवरटाइम एलाउंस

  • लोकोमोटिव में Assistant Loco Pilot, Loco Pilot के सहायक के रूप में कार्य करता है।
  • इसी कारण असिस्टेंट लोको पायलट को ओवरटाइम ड्यूटी भी करने की संभावना अधिक होती है।
  • इस वजह से Assistant Loco Pilot RRB को प्रति घंटा की दर से रेलवे द्वारा कंपनसेशन के तौर पर ओवरटाइम एलाउंस प्रदान किया जाता है।
  • इस प्रकार हम कह सकते हैं, कि एक असिस्टेंट लोको पायलट को कम से कम 40,000/- रूपए प्रति माह वेतन प्राप्त होता है।
  • इसके अलावा एक मेल/एक्सप्रेस का लोको पायलट अपनी 10  से 15 साल के एक्‍सपीरियेंस के बाद कम से कम 1,00,000/- तक मासिेक सैलरी प्राप्त करता है।

Assistant Loco Pilot ki Salary ki Gadna Kaise ki Jati hai | असिस्‍टेंट लोको पायलट की सैलरी की गणना कैसे की जाती है?  

असिस्‍टेंट लोको पायलट की भर्ती उनको मिलने वाली सैलरी 7th pay Matrix के Lavel 2 के तहत रखा गया है।

इसके अनुसार असिस्‍टेंट लोको पायलट की सैलरी निम्‍नानुसार गणना की जाएगी:-

  • Basic Pay 19900 + HRA(House rent allowance या गृह किराया भत्‍ता)+ TA(traffic allowance या परिवहन भत्‍ता)+ DA(dearness allowance या महंगाई भत्ता यानी)+ टीए पर डीए + तकनीकी भत्ता एवं अन्य भत्‍ते इत्‍यादि का कुल योग।
  • इस प्रकार एक असिस्‍टेंट लोको पायलट को अपने कैरियर के शुरूआत में ही लगभग 30,000/– से लेकर 40,000/- के मध्‍य  सैलरी प्रतिमाह प्राप्‍त होती है।

नोट:-

  • एक Loco Pilot की सैलरी उसकी वर्क प्रोफाइल तथा अलाउंस उसकी पोस्टिंग के लोकेशन के ऊपर निर्भर करती है।
  • एक Assistant Loco Pilot RRB की सैलरी उस पद पर कार्य करने के अनुभव के आधार पर प्रतिवर्ष बढ़ती जाती है।

ALP पद पर Promotion एवं Carrier Growth की क्‍या स्थिति है?

ALP पद पर Promotion एवं Carrier Growth की क्‍या स्थिति है?

Assistant Loco Pilot RRB जॉब का प्रमोशन तथा कैरियर ग्रोथ निम्न अनुक्रम के अनुसार स्टेप बाय स्टेप आगे बढ़ती है। रेलवे में सर्वप्रथम असिस्टेंट Loco Pilot के तौर पर सीधी भर्ती की जाती है। असिस्‍टेंट लोको पायलट को प्रथम नियुक्ति मालगाड़ी पर लोकोपायलट के सहायक के तौर पर प्रदान की जाती है।

एक्सपीरियंस के आधार पर ही उसे प्रथम प्रमोशन सीनियर असिस्टेंट लोको पायलट के तौर पर प्राप्त होता है। सीनियर असिस्टेंट लोको पायलट पर कार्य करते रहने के दौरान अगला प्रमोशन उसे Loco Pilot के रूप में पहचान दिलाता है।

Loco Pilot बनने के बाद संबंधित व्यक्ति को अगला प्रमोशन पावर कंट्रोलर/क्रू-कंट्रोलर/लोको फोरमैन (लोको सुपरवाइजर) के रूप में प्रदान किया जाता है।

इस प्रकार असिस्टेंट लोको पायलट अपने सुरूआती कैरियर से होते हुए अपने अपनी सर्विस के दौरान आखरी प्रमोशन पावर कंट्रोलर/क्रू कंट्रोलर/लोको फोरमैन (लोको सुपरवाइजर) के रूप में प्राप्त करता है।

यह भी पड़ें

Assistant Loco Pilot kaise Bante hain | असिस्टेंट लोको पायलट कैसे बनते हैं?

कोई भी अभ्‍यार्थी यदि असिस्टेंट लोको पायलट बनना चाहता है, तो उसे रेलवे रिक्रयुटमेंट बोर्ड द्वारा समय-समय पर निकाली जाने वाली भर्ती प्रकिया का हिस्‍सा बनना होगा।

Assistant Loco Pilot RRB बनने हेतु संबंधित अथ्‍यार्थी को रेल्‍वे भर्ती बोर्ड द्वारा संचालित चयन प्रक्रिया से गुजरना होता है। इस प्रक्रिया का हिस्सा बनकर ही संबंधित अभ्‍यार्थी असिस्टेंट लोको पायलट बन सकता है।

ALP Banane Hetu Aavashyak Yogyta Kya hai | ALP बनने हेतु आवश्यक योग्यता क्या है?

शैक्षिक योगिता की बात करें तो हम पाते हैं, कि एक Loco Pilot के लिए 10वीं/12वीं की परीक्षा पास करना अनिवार्य है। इसके अलावा संबंधित आवेदक के पास 2 वर्ष का आईटीआई में डिप्लोमा मैकेनिकल, इलेक्ट्रकल अथवा ऑटोमोबाइल्स क्षेत्र में होना चाहिए।

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा धारक अभ्यार्थी जिन्‍होंने इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल अथवा ऑटोमोबाइल क्षेत्र से त्रिवर्षीय डिप्लोमा किया है, उन्‍हें भी Loco Pilot पद हेतु आवेदन करने का अधिकार है।

वर्तमान समय में इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट व्यक्ति भी लोको पायलट के लिए पात्रता की श्रेणी में समझा जाता है। उपरोक्त तीनों आईटीआई डिप्लोमा, पॉलिटेक्निकल डिप्लोमा अथवा इंजीनियरिंग में स्नातक योग्‍यता अभ्‍यार्थी द्वारा किसी सरकारी अथवा मान्यता प्राप्त बोर्ड/यूनीवर्सिटी से ही उत्‍तीर्ण करना अनिवार्य है। 

यह भी पड़ें

असिस्टेंट लोको पायलट ka Selection Processor Kya hai ?

Assistant Loco Pilot RRB पद हेतु आवेदन करने वाले अभ्यर्थी को रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा में पॉंच चरणों से होकर गुजरना होगा।

इसमें तीन स्‍तर पर परीक्षा आयोजित की जाती है। इन परीक्षाओं में मेरिट पर आने वाले अथ्‍यार्थियों को चौथे तथा पांचवे स्‍तर पर डाक्‍यूमेंट वेरीफिकेशन तथा मेडिकल टेस्‍ट का कार्य पूर्ण करनी होगी।

First Stage Objective Type Computer Based Test (CBT) (Objective Type) | प्रथम स्‍टेज कम्‍प्‍यूटर बेस्‍ड टेस्‍ट(सीबीटी) (ऑब्‍जेक्टिव टाइप)

प्रथम स्‍तर की लिखित परीक्षा का आयोजन कम्‍प्‍यूटर बेस्‍ड टेस्‍ट के रूप में किया जाता है। इस परीक्षा में ऑब्‍जेक्टिव टाईप सवालों से गुजरना होता है।

इस स्‍तर पर कुल 75 सवालों के जवाब देने होते हैं। प्रथम स्‍टेज पर 75 सवालों के जवाब हेतु कुल 60 मिनट का समय दिया जाता है।

इस स्‍तर की परीक्षा में निम्‍न विषयों से सवाल पूछे जाते हैं:-

  • गणित (Mathematics)
  • सामान्‍य बुद्धिमता एवं रीजनिंग (General Intelligence and Reasoning)
  • सामान्‍य विज्ञान (General Science)
  • सामान्‍य जागरूक्‍ता (General Awareness)

प्रथम स्‍टेज Computer Based Test (CBT)  परीक्षा में Qualifying Marks:-

Assistant Loco Pilot RRB हेतु प्रथम स्‍तर की परीक्षा में अभ्‍यार्थी को पूर्व निर्धारित कट ऑफ मार्क्‍स लाना अनिवार्य है। इसी आधार पर उसे अगले स्‍तर की परीक्षा में बैठने की अनुमति प्राप्‍त होगी।

इस स्‍तर पर अभ्‍यार्थियों को अपने-अपने संवर्ग में उनके सामने दर्शाये अनुसार निर्धारित कट ऑफ मार्क लाना आवश्‍यक है।

विभिन्‍न संवर्गों में निर्धारित कट ऑफ मार्क्‍स निम्‍नानुसार हैं:-

  • सामान्‍य वर्ग के अभ्‍यार्थियों हेतु कम से कम 40% अंक
  • ओबीसी वर्ग के अभ्‍यार्थियों हेतु न्‍यूनतम 30% अंक
  • अनुसूचित जाति वर्ग के अभ्‍यार्थियों हेतु न्‍यूनतम 30% अंक
  • अनुसूचित जनजाति वर्ग के अभ्‍यार्थियों हेतु न्‍यूनतम 25% अंक

द्वितीय स्‍टेज Computer Based Test (CBT)  परीक्षा Second Stage CBT

Assistant Loco Pilot RRB हेतु प्रथम स्‍टेज की परीक्षा में सॉर्ट लिस्‍ट किए गए अभ्‍यार्थियों को द्वितीय स्‍तर की Computer Based Test (CBT)  परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी।

द्वितीय स्‍तर की परीक्षा दो भागों में आयोजित की जाएगी, पार्ट A तथा पार्ट B.

द्वितीय स्‍टेज परीक्षा के तहत Part A

Assistant Loco Pilot RRB हेतु द्वितीय स्‍तर की Computer Based Test (CBT)  परीक्षा में कुल 100 प्रश्‍न पूछे जाते हैं। इन 100 प्रश्‍नों को हल करने के लिए मात्र 90 मिनट का समय दिया जाता है।

इस परीक्षा हेतु निम्‍न विषयों से प्रश्‍न पूछे जाते हैं:-

  • गडि़त (Mathematic)
  • सामान्‍य बुद्धिमता एवं रीजनिंग (General Intelligence and Reasoning)
  • प्रारंभिक विज्ञान एवं इंजीनियरिंग (Basic Science and Engineering)
  • सामान्‍य जागरूक्‍ता एवं करंट अफेयर (General Awareness and Current Affairs)

द्वितीय स्‍टेज परीक्षा के तहत Part B

द्वितीय स्‍तर की Computer Based Test (CBT)  परीक्षा में कुल 75 प्रश्‍न पूछे जाते हैं। इन 75 प्रश्‍नों को हल करने के लिए मात्र 60 मिनट का समय दिया जाता है।

इस परीक्षा हेतु अथ्‍यार्थियों की तकनीकी योग्‍यतानुसार उनके द्वारा की गई डिग्री/डिपलोमा/आईटीआई आदि ट्रेड से संबंधित प्रश्‍न पूछे जाऐंगे।  

द्वितीय स्‍टेज Computer Based Test (CBT)  परीक्षा में Qualifying Marks

Assistant Loco Pilot RRB हेतु द्वितीय स्‍तर की परीक्षा के पार्ट A तथा पार्ट B भागों में अभ्‍यार्थी को पूर्व निर्धारित 35% कट ऑफ मार्क्‍स लाना अनिवार्य है।

इसी आधार पर उसे अगले स्‍तर की परीक्षा में बैठने की अनुमति प्राप्‍त होगी।

त्रितीय स्‍टेज Computer Based Aptitude Test (CBAT)

प्रथम एवं द्वितीय स्‍टेज की परीक्षा में सॉर्ट लिस्‍ट किए गए अभ्‍यार्थियों को त्रितीय स्‍तर की Computer Based Aptitude Test (CBAT)  परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी। इस परीक्षा में किसी प्रकार की negative marking  नहीं की जाएगी।

Assistant Loco Pilot RRB हेतु कंप्यूटर एप्टीट्यूड टेस्ट परीक्षा में सेकेंड स्टेज के तहत पार्ट A तथा पार्ट B में क्वालिफाई अभ्‍यार्थियों में से विज्ञापन में जारी किए गए पदों की संख्‍या से 8 गुना अधिक को बैठने का मौका दिया जाएगा।

इस अंतिम चरण की परीछा में सभी केटेगरी के अभ्‍यार्थियों को कम से कम 42 नंबर इस परीक्षा को क्‍वालीफाई करने हेतु अनवार्यता रखी गई है।

Documents Verification | डाक्‍यूमेंट वेरीफिकेशन

प्रथम, द्वितीय एवं त्रितीय स्‍टेज Computer Based Aptitude Test (CBAT) परीक्षा में क्‍वालीफाई होने वाले अथ्‍यार्थियों को डाक्‍यूमेंट वेरीफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा।

यहॉं सभी डॉक्‍यूमेंट सही पाए जाने पर अभ्‍यार्थियों को मेडिकल फिटनेस परीक्षा से गुजरना होगा

Medical Fitness Test | मेडिकल फिटनेस परीक्षा

Loco Pilot एक जिम्मेदारी भरा पद होता है, जो ट्रेन से सफ़र करने वाले यात्रियों को सुरक्षित अपने गंतव्‍य तक पहुँचाने में मदद करता है। यात्रियों को एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान तक सुरक्षित व समय पर पहुँचाने की जिम्‍मेदारी लोको पायलट की ही होती है।

इसलिए ट्रेन संचालन का कार्य करने वाले Assistant Loco Pilot RRB को मेडिकली रूप से फिट होना अनिवार्य है। मेडिकली फिटनेस के हिसाब से एक Loco Pilot का कार्य करने वाले व्‍यक्ति को सर्वाधित अपनी आँखों की ही आवश्‍यक्‍ता पड़ती है।

इसलिए उसकी ऑंखें पूरी तरह स्‍वस्‍थय होना चाहिए। Loco Pilot पद हेतु दूर दृष्टि सही होनी चाहिए। इसके अलावा ऑंखों का विजन 6/6, 6/6 होना चाहिए। इसके अलावा संबंधित अभ्‍यार्थी को कलर ब्‍लांइंडनेश की शिकायत भी नहीं होनी चाहिए। उसे सभी प्रकार के रंगों में स्‍पष्‍ट अंतर करना आना चाहिए।

आंखों के अलावा भी Loco Pilot हेतु आवेदन करने वाले अभ्‍यार्थी को फीजीकली फिट होना चाहिए। उसके शरीर की लंबाई के हिसाब से ही उसके शरीर का भार होना चाहिए।

Final Selection Process | फाइनल सेलेक्‍शन प्रक्रिया

उपरोक्त सभी स्टेप क्लियर करने के उपरांत ही अभ्यार्थी Assistant Loco Pilot RRB हेतु पात्र समझा जाता है। सभी स्‍टेप क्लियर करने के बाद उसे ट्रेनिंग पर भेजते हैं।

ट्रेनिंग पूरी करके निकलेने के बाद उसकी पोस्टिंग असिस्टेंट लोको पायलट के पद पर कर दी जाती है।

यह भी पड़ें

1 Comment

  1. Omveer Singh 13/06/2020

Give a Comment