Ayushman Bharat Yojana in Hindi | आयुष्मान भारत योजना इन हिन्दी

आयुष्मान भारत योजना का लाभ कैसे लें|

Ayushman Bharat Yojana in Hindi में हम पाते हैं, कि केन्द्र सरकार ने देश के गरीब उपेक्षित परिवारों को स्वास्थ्य बीमा लाभ देने आयुष्मान भारत योजना लॉंच की है

योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से 14 अप्रैल 2018 को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती के दिन लांच किया गया।

25 सितंबर 2018 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के अवसर पर आयुष्मान भारत योजना को पूरे देश में लागू किया गया।

इस योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) के नाम के अलावा मोदीकेयर के नाम से भी जाना जाता है।

यूपीए सरकार द्वारा वर्ष 2008 में चालू की गई राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (NHBY) को भी केन्‍द्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना में शामिल किया गया है।

यह भी पड़ें:जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंसेज – जाने US ने क्यों GSP को समाप्त कर दिया?

Ayushman Bharat Yojana ka Uddeshya| आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्‍य

आयुष्मान भारत योजना

Ayushman Bharat Yojana in Hindi में जानकारी के तहत देश में आर्थिक रूप से कमजोर (बीपीएल कार्ड धारक) व्‍यक्तियों/परिवारों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्‍ध कराने के उद्देश्य से केन्‍द्र सरकार ने इस योजना की शुरूआत की गई।

केन्‍द्रीय आयुष्मान भारत योजना देश के गरीब, उपेक्षित परिवारों तथा शहरी गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा सुविधा उपलब्ध कराने का एक जरिया है।

इस योजना के अंतर्गत केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने यह सुविधा उपलब्‍ध कराई है, कि प्रत्येक वर्ष देश के 10 करोड़ गरीब परिवार वार्षिक 5 लाख रूपए तक की धनराशि का स्वास्थ्य बीमा सुविधा प्राप्‍त कर सकें।

यह भी पड़ें:Motor Vehicle Act 2019 | मोटर व्हीकल एक्ट 2019 क्या है?

Ayushman Bharat Yojana Hetu Patrata | आयुष्मान भारत योजना हेतु पात्रता

Ayushman Bharat Yojana in Hindi में जानकारी के तहत योजना का लाभ कैसे लें की जानकारी में सर्वप्रथम योजना के लिए निर्धारित पात्रता को जानना आवश्‍यक है।

इस योजना के लिए पात्रता हेतु सामाजिक, आर्थिक तथा जाति जनगणना 2011 के आंकड़ों को आधार बनाया गया है।

जनगणना 2011 के आंकड़ों के आधार पर ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ तथा शहरी इलाकों से 2.33 करोड़ गरीब, उपेक्षित परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का सीधा लाभ प्राप्‍त हो सकेगा।

जनगणना 2011 के आंकड़ों को आधार बनाए जाने पर इस योजना का लाभ सीधे तौर पर लगभग 50 करोड़ लोगों को प्राप्‍त हो सकेगा।

उपेक्षित परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का सीधा लाभ प्राप्‍त हो सकेगा। जनगणना 2011 के आंकड़ों को आधार बनाए जाने पर इस योजना का लाभ सीधे तौर पर लगभग 50 करोड़ लोगों को प्राप्‍त हो सकेगा।

ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ तथा शहरी इलाकों से 2.33 करोड़ गरीब, उपेक्षित परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का सीधा लाभ प्राप्‍त हो सकेगा।

जनगणना 2011 के आंकड़ों को आधार बनाए जाने पर इस योजना का लाभ सीधे तौर पर लगभग 50 करोड़ लोगों को प्राप्‍त हो सकेगा।

यह भी पड़ें:Samagra ID Pahchan Kya Hai | समग्र आईडी पहचान क्या है?

Aayushman Yojana se Labhanvit Hone Wale Log | आयुष्मान भारत योजना से लाभान्वित होने वाले लोग

जनगणना 2011 के आंकड़ों को आधार बनाए जाने पर इस योजना का लाभ सीधे तौर पर लगभग 50 करोड़ लोगों को प्राप्‍त हो सकेगा।

आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्‍त करने हेतु केन्‍द्र सरकार द्वारा किसी भी प्रकार का बंधन नहीं रखा गया है।

सरकार ने योजना के लिए पात्रता हेतु परिवार के आकार और उम्र की भी कोई सीमा नहीं रखी है।

इसके परिणाम स्‍वरूप विशेषकर महिला, बच्चे तथा सीनियर सिटीजन को भी आसानी से स्वास्थ्य बीमा का लाभ प्राप्‍त हो सकेगा।

यह भी पड़ें:Madhya Pradesh Rajya ka Gathan | मध्य प्रदेश राज्य का गठन

Gramin Kshetra ke Logon Hetu Nirdharit Patrata Mapdand | ग्रामीण क्षेत्र के लोगों हेतु निर्धारित पात्रता मापदंड

Ayushman Bharat Yojana in Hindi में जानकारी के तहत, इस योजना के लिए SECC के आंकड़ों के अनुसार ग्रामीण आबादी को लाभ पहुँचाने के लिए उन्‍हें D1, D2, D3, D4, D5 तथा D7 (7 कैटेगरी) में बांटा गया है।

  • D1 – श्रेणी के अंतर्गत कच्ची दीवार तथा छत वाले एक कमरे में निवासरत परिवारों को सम्मिलित किया गया है।
  • D2 – श्रेणी के अंतर्गत ऐसा परिवार जिसमें 16-59 की उम्र के बीच का कोई सदस्य ना हो को सम्मिलित किया गया है।
  • D3 – श्रेणी में ऐसा परिवार जिसमें 16-59 की उम्र के बीच का कोई सदस्य ना हो तथा उस परिवार की मुखिया महिला हो को सम्मिलित किया गया है।
  • D4 – श्रेणी में ऐसा परिवार जिसमें सभी सदस्य विकलांग हों को सम्मिलित किया गया है।
  • D5 – श्रेणी में में सभी एससी/एसटी परिवारों को सम्मिलित किया गया है। तथा
  • D7 – श्रेणी के अंतर्गत वे परिवार जिनके पास खुद की जमीन ना हो तथा वे मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे हों को सम्मिलित किया गया है।

इनके अलावा भी ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, भीख मांगने वाले व्यक्ति, निराश्रित व्यक्ति तथा कानूनी रूप से मुक्त बंद हुआ व्यक्ति भी स्वत: ही आयुष्मान भारत योजना में शामिल समझे जाऐंगे।

यह भी पड़ें:Chief of Defense Staff Kya hai | चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ क्या है?

Shahri Kshetra ke Logon Hetu Nirdharit Patrata Mapdand | शहरी क्षेत्र के लोगों हेतु निर्धारित पात्रता मापदंड

शहरी क्षेत्र में भीख मांगने, कूड़ा-कचरा बीनने वाले, रेहड़ी/पटरी दुकानदार, फेरीवाले, घरेलू कामकाज वाले, मोची या सड़क पर कामकाज वाले आदि व्यक्तियों/परिवारों को आयुष्मान भारत योजना हेतु पात्र समझा जाऐगा।

इस क्षेत्र में कंस्ट्रक्शन साइट्स पर कार्यरत मजदूर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, प्लंबर, राजमिस्त्री, मजदूर, कुली अथवा भार ढोने वाले विभिन्‍न कामकाजी व्यक्तियों को आयुष्मान भारत योजना हेतु पात्र समझा जाऐगा।

इनके अलावा शहरी क्षेत्र में कार्यरत स्वीपर, घरेलू काम करने वाले व्यक्ति, सफाई कर्मचारी, हैंडीक्राफ्ट का काम करने वाले व्यक्ति, ड्राइवर, रिक्शा चालक, टेलर या दुकान पर कार्य करने वाले व्यक्ति भी आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्‍त करने हेतु पूर्ण रूप से पात्र होंगे।

यह भी पड़ें:UAPA Amendment Bill 2019 UPSC | UAPA अमेन्डमेंट बिल 2019 यूपीएससी

Cashless Evam Paperless hai Aayushman Yojana | कैशलेस एवं पेपरलेस है आयुष्मान योजना

Ayushman Bharat Yojana in Hindi में जानकारी के तहत, इस योजना का लाभ प्राप्‍त करने हेतु संबंधित व्‍यक्ति को योजना से जुड़े सरकारी/प्राइवेट अस्पताल में एडमिट होने के दौरान किसी भी प्रकार की फीस देने की आवश्‍यकता नहीं होगी।

केन्‍द्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना को पूर्ण रूप से पेपर-लेश तथा केश-लेश रखा है।

योजना के तहत स्‍वास्‍थ्‍य बीमा कार्ड़ धारक को अस्पताल में दाखिल होने से लेकर इलाज पूरा होने तक का सारा खर्च स्वास्थ्य बीमा योजना में कवर किया जाएगा।

इसके लिए मरीज को किसी भी प्रकार की धनराशि अलग से नहीं देनी होगी।

यह भी पड़ें:Article 370 in Hindi | अर्टिकल 370 इन हिन्दीं

Aayushman Yojana ke Tahat Ilaj ka Tarika | आयुष्मान योजना के तहत इलाज का तरीका

योजना से जुड़कर पीडि़त व्यक्ति को अपना इलाज कराने हेतु संबंधित अस्पताल में भर्ती होने के दौरान अपने स्‍वास्‍थ्‍य बीमा के दस्तावेज उपलब्ध कराने होंगे।

इसके उपरान्‍त ही आगे की कार्यवाही अस्‍पताल प्रबंधन तय करेगा।

आयुष्मान भारत योजना से जुड़ने के बाद किसी भी व्यक्ति द्वारा योजना से जुड़े सरकारी पैनल में शामिल निजी अथवा सरकारी अस्पताल में इलाज कराने की आजादी प्रदान की गई है।

यह भी पड़ें:फ्री में वेबसाइट कैसे बनाएं?

Ashpatal main Ayush Mitra ki Vyavastha | अस्पताल में आयुष्मान मित्र की व्‍यवस्‍था

मरीजों की सहायता करने हेतु योजना के तहत देश के विभिन्‍न सरकारी/प्राइवेट अस्पताल में एक हेल्प डेस्क की व्यवस्था की गई है,

जिसका मुख्‍य कार्य योजना का लाभ प्राप्‍त करने वाले व्‍यक्ति के दस्तावेज चेक करना तथा योजना में नामांकन हेतु वेरिफिकेशन आदि में संबंधित की सहायता करना है।

इसके अलावा आयुष्मान भारत योजना से जुड़े प्रत्येक अस्पताल में एक आयुष्मान मित्र की व्यवस्था की गई है,

जिसका मुख्य कार्य मरीजों की मदद करना तथा अस्पताल में मरीजों को सुविधाएं उपलब्ध कराना है।

आयुष्मान भारत योजना का लाभ सभी तक आसानी से पहुंचाने के उद्देश्‍य से योजना में निजी अस्पतालों को जोड़ने का कार्य शुरू किया जा चुका है।

इस पहल से सरकारी अस्पतालों में भीड़ कम की जा सकेगी तथा लोगों को अधिक सुविधा प्राप्‍त होगी।

सरकार इसके लिए देश भर में डेढ़ लाख से ज्यादा हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर खोलने जा रही है।

इन हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों का मुख्य कार्य जरूरत मंदों को आवश्यक दवाईयां त‍था जरूरी जांच निशुल्क उपलब्‍ध कराना होगा।

यह भी पड़ें:73वां स्वतंत्रता दिवस प्रधानमंत्री का भाषण

Aayushman Bharat Yojana se Laabh Prapt Karne ka Tarika | आयुष्मान भारत योजना से लाभ प्राप्‍त करने का तरीका

आयुष्मान भारत योजना के लिए सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता के तहत देश के ऐसे नागरिक जिनके द्वारा

योजना में अपना पंजियन कराया जाकर स्वास्थ्य बीमा कार्ड प्राप्‍त किया जा चुका है तथा वे इसका लाभ प्राप्‍त करना चाहते हैं,

तो उन व्‍यक्तियों को केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य योजना से जुड़े किसी भी सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पताल में फ्री में इलाज कराने की सुविधा प्राप्‍त होगी।

इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए संबंधित व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती होने पर अपने बीमा के दस्तावेज अस्‍पताल को उपलब्ध कराने होंगे।

इन दस्तावेजों के आधार पर अस्पताल संबंधित मरीज के ऊपर आने वाले खर्च के बारे में बीमा कंपनी को सूचित करेगा।

बीमा कंपनी बीमित व्यक्ति के दस्तावेजों की पुष्टि करेगी।

इस पूरी प्रक्रिया के बाद ही अस्पताल में बिना किसी लेनदेन के संबंधित व्यक्ति का इलाज शुरू किया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार किसी भी सरकारी स्कीम का लाभ प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड की आवश्यकता को समाप्त कर दिया गया है।

इसकी वजह से ही आयुष्मान भारत योजना में भी आधार कार्ड की आवश्‍यक्‍ता नहीं होगी।

यह भी पड़ें:Morena Jila ki Jankari| मुरैना जिला की जानकारी

Aayushman Bharat Yojana main Cover ki Gayee Bimariyan | आयुष्मान भारत योजना में कवर की गई बीमारियां

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय से संचालित आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पंजियित देश के गरीब व्‍यक्ति या परिवार को

मैटरनल हेल्थ तथा डिलीवरी की सुविधा, नवजात बच्चों के स्वास्थ्य, किशोर बच्चों के स्वास्थ्य सुविधाएं, संक्रामक तथा गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा,

कांट्रेसेप्टिव सुविधा, आंख, नाक, कान और गले से संबंधित रोगों के इलाज की सुविधा, बुजुर्गों के इलाज की सुविधा आदि बीमारियों का इलाज कराने की सुविधा प्रदान की गई है।

इसके अलावा इस बीमा योजना में पूर्व से ग्रसित गंभीर बीमारियों को भी कवर दिया गया है तथा इसके तहत इन बीमारियों का भी इलाज कराने की सुविधा संबंधित मरीज को प्रदान की गई है।

वर्तमान में यह योजना देश के 30 राज्यों तथा 440 जिलों में संचालित की जा रही है।

यह भी पड़ें:श्योपुर जिला की जानकारी | Sheopur Jila Ki Jankari

Aayushman Bharat Duniya ki Sabse Badi Yojana | आयुष्‍मान भारत दुनिया की सबसे बड़ी योजना

इस योजना को दुनिया की सबसे बड़ी सरकारी योजना के रूप में वर्णित किया जा रहा है।

योजना के अंतर्गत टीवी के मरीजों को विशेष सुविधा प्रदान की गई है।

इसके तहत उन्‍हें प्रत्येक माह ₹500 प्रदान किये जा रहे हैं।

इसके अलावा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार 1200 करोड़ रूपए में नवीन स्वास्थ्य केंद्र खोलने की योजना बना रही है।

वर्तमान में आयुष्मान योजना के अंतर्गत लगभग 222 77 890 स्वास्थ्य बीमा कार्ड जारी करने के अलावा लगभग 14 12624 व्यक्तियों द्वारा इस योजना से लाभ प्राप्त किया जा चुका है।

इस योजना के अंतर्गत लगभग 222 77 890 स्वास्थ्य बीमा कार्ड जारी करने के अलावा लगभग 14 12624 व्यक्तियों द्वारा इस योजना से लाभ प्राप्त किया जा चुका है।

यह भी पड़ें:भारत में लोकपाल व उसके कार्य bhart main lokpal V Uske karya

Leave a Comment