Polytechnic Kya Hai in Hindi

Polytechnic Kya Hai in Hindi | पॉलिटेक्निक की पूरी जानकारी

Polytechnic Kya Hai: कम से कम समय में बिना अधिक मेहनत के यदि आप कामयाब इंजिनियर बनना चाहते हैं, तो Polytechnic Kya Hai in Hindi और कैसे करे का पूर्ण ज्ञान प्राप्त करना आवश्यक है | अपनी लाइफ में सक्सेसफुल व्यक्ति बनने के लिए आज प्रत्येक नौजवान पढ़ाई तो करता है, परन्तु हरेक को आगे क्या करना है, इसके बारे में जानकारी नहीं होती है |

आज के दौर में अधिकांश लोगों को यह ज्ञात ही नहीं है, कि बेसिक एजुकेशन के बाद किस फील्ड का चयन किया जाए, जिससे अपने निश्चित लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके | चलिए दोस्तों पॉलिटेक्निक कोर्स के बारे में जानने की जिज्ञासा को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको बताने जा रहे हैं, “Polytechnic Kya Hai in Hindi aur Kaise Kare” तथा पॉलिटेक्निक कोर्स की फुल डिटेल जनकारी |

पॉलिटेक्निक एक ऐसा कोर्स है जिसे अभ्यार्थियों द्वारा किया जाकर कम समय में ही टेक्निकल एजुकेशन हासिल की जा सकती है | इसके अलावा कम से कम समय तथा महनत में ही आसानी से इंजिनियर बनने का सपना पूर्ण किया जा सकता है |

इसी कारण लोगों में पॉलिटेक्निक की ओर रुझान अधिक है इस कोर्स को करने वाले अभ्यार्थी को प्रेक्टिकल नोलेज अधिक होता है | जिससे वह अपनी फील्ड में काफी सक्सेस होता है | आइए जानते हैं, Polytechnic Kya Hai कैसे करें तथा इस कोर्स को करने के बाद संबंधित व्यक्ति को किस फील्ड में जाने का मौका मिलेगा |

Polytechnic Kya Hai in Hindi

आइये समझते हैं, Polytechnic Kya Hai कैसे करे | वास्तव में पॉलिटेक्निक मुख्य रूप से एक टेक्निकल एजुकेशन संस्थान है | जिसकी शुरुआत अभ्यार्थियों को Technically Job Oriented Course उपलब्ध कराने हेतु की गई थी | इस संस्थान की सुरुआत ही Skilled Workers तैयार करने हेतु की गयी थी | काफी हद तक यह संस्थान अपने मकसद में कामयाब भी रहे |

लगभग सभी राज्यों द्वारा अपने-अपने राज्य में इन संस्थानों का सन्चालन किया जा रहा है | तथा सभी राज्य सरकारें पॉलिटेक्निक संस्थानों में अभ्यार्थियों के एडमीशन हेतु राज्य स्तर पर Common Entrance Exam कंडक्ट कराते हैं | देश में मौजूद सभी पॉलिटेक्निक संस्थानों द्वारा 3 वर्षीय डिप्लोमा पाठ्यक्रम उपलब्ध कराया जाता है | पॉलिटेक्निक डिप्लोमा(Polytechnic Kya Hai) कोर्स की तरफ लोगों का रुझान पूर्व से ही काफी अधिक रहा है |

Polytechnic Kya Hai in Hindi: पॉलिटेक्निक ऐसे संस्थान होते हैं, जो Technical Field से Related 3 वर्षीय डिप्लोमा पाठ्यक्रम उपलब्ध कराते हैं | पॉलिटेक्निक कोर्स के तहत सदा से ही 3 Branches का बोलबाला रहा है | ये Branches हैं Electrical, Mechanical तथा Civil Engineering आदि |

समय के साथ Computer Science, Electronics, तथा अन्य Branches की ओर भी लोगों का रुझान बढ़ा है | इस प्रकार अपनी पसंदीदा ब्रांच का चयन कर अभ्यार्थी द्वारा Engineering Field में जाने का अपना सपना साकार किया जा सकता है | वास्तव में Engineering Collages में संचालित सभी Branches का संचालन पॉलिटेक्निक कोर्स के तहत किया जाता है |

Bachelor in Engineering तथा Polytechnic में केवल यही फर्क होता है, कि पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद संबंधित ट्रेड में संबंधित व्यक्ति को Diploma Certificate प्रदान किया जाता है | जबकि उसी ट्रेड में BE करने वाले उम्मीदवार को Bachler in Engineering डिग्री से सम्मानित किया जाता है |

पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेने की जानकारी

पॉलिटेक्निक: Polytechnic Kya Hai aur कैसे करे, के अगले चरण में हम देखेंगे, कि पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमीशन कैसे ले सकते हैं | Polytechnic ऐसे Institute होते हैं, जहां पर अभ्यार्थियों द्वारा चुनी गयी ब्रांच से संबंधित सम्पूर्ण प्रैक्टिकल नॉलेज प्रदान किया जाता है | ऐसे में पॉलिटेक्निक कोर्स की डिमांड बड जाती है | इसे देखते हुए सभी राज्य सरकारें पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमीशन हेतु Common Entrance Test कंडक्ट करती हैं |

परीक्षार्थी द्वारा इस परीक्षा में अच्छी Ranking लाना अनिवार्य है | परीक्षार्थी को Rank के आधार पर ही विभिन्न Collages में अपनी मनपसंद ब्रांच के साथ एडमिशन प्राप्त होता है | Government Collages में एडमिशन की चाह रखने वाले अभ्यार्थी को Common Entrance Test में अच्छी Rank लाना अवश्यक है|

क्योंकि Private Polytechnic Collages की फीस अधिक होती है | इसलिए गवर्नमेंट कॉलेज की चाह में कंपटीसन काफी बड जाता है | इसलिए अभ्यार्थी को अच्छे Polytechnic संस्थान में एडमिशन हेतु Common Entrance Test के लिए अच्छी तैयारी करनी चाहिए | मध्य प्रदेश राज्य में पॉलिटेक्निक संस्थानों में एडमिशन के लिए राज्य सरकार द्वारा प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट (PPT) का आयोजन किया जाता है |

पॉलिटेक्निक में एडमिशन हेतु क्या योग्यता चाहिए |

पॉलिटेक्निक Polytechnic Kya Hai है कैसे करे के इस भाग में पॉलिटेक्निक में एडमिशन हेतु निर्धारित की गयी योग्यता के बारे में जानेंगे | आइए समझते हैं, कि Common Entrance Test में शामिल होने हेतु अभ्यार्थी के पास क्या योग्यताएं होनी चाहिए | पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन लेने हेतु संबंधित अभ्यार्थी के पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए –

  1. Common Entrance Test में शामिल होने हेतु अभ्यार्थी को या तो उसी सत्र में 10वीं या 12वीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल होना चाहिए अथवा उसे 10वीं अथवा 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए |
  2. संबंधित अभ्यार्थी द्वारा 10वीं अथवा 12वीं की परीक्षा में विज्ञान, गणित तथा अंग्रेजी विषयों में कम से कम 35% मार्क लाना अनिवार्य किया गया है |
  3. ITI Diploma धारक अभ्यार्थी भी कुछ चुनिन्दा ब्रांच में एडमीशन ले सकता हैं |

पॉलिटेक्निक कैसे करें सम्पूर्ण जानकारी | How to Do Polytechnics, Complete Information

पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने हेतु संबंधित अभ्यार्थी को विभिन्न स्टेप से गुजरना होता है – पॉलिटेक्निक कैसे करें सम्पूर्ण जानकारी aur Polytechnic Kya Hai in Hindi

Polytechnic Kya Hai पॉलिटेक्निक कैसे करें सम्पूर्ण जानकारी
Polytechnic Kya Hai | पॉलिटेक्निक कैसे करें सम्पूर्ण जानकारी

STEP: 1 10th or 12th के बाद

  1. जिस किसी अभ्यर्थी को पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन लेने की इच्छा है, उसे किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10th or 12th की परीक्षा उत्तीर्ण करना आवश्यक है |
  2. Polytechnic Kya Hai: पॉलिटेक्निक में संचालित पाठ्यक्रम Engineering से संबंधित होते हैं, इसलिए अभ्यर्थी के लिए यह Compulsory किया गया है, कि उसके द्वारा 10th or 12th में मैथमेटिक्स, इंग्लिश तथा साइंस विषयों में अच्छे अंक प्राप्त किये गए हों |
  3. Polytechnic Engineering में डिप्लोमा कोर्स है तथा इंजीनियरिंग में मैथ, साइंस तथा अंग्रेजी की आवश्यकता अधिक होती है | यदि व्यक्ति इन तीनों सब्जेक्ट में कमजोर होता है, तो उसे पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन मिलने के बाद भी फाउंडेशन कोर्स कंप्लीट करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है |
  4. यदि अभ्यर्थी द्वारा 12वीं की परीक्षा उतीर्ण करने के बाद Polytechnic Course में एडमिशन लेता है, तो उसे 12वीं के आधार पर डिप्लोमा कोर्स में फाउंडेशन सब्जेक्ट्स से छूट प्राप्त हो जाती है |

STEP: 2 कॉमन एंट्रेंस टेस्ट द्वारा

  1. Engineering में Diploma प्राप्त करने की चाह रखने वाले अभ्यार्थी को पॉलिटेक्निक कोर्स हेतु आयोजित कॉमन एंट्रेंस टेस्ट हेतु आवेदन करना चाहिए |
  2. अभ्यार्थी को इस परीक्षा में अच्छे से अच्छी रैंक हासिल करने की कोशिश करनी चाहिए |
  3. यदि अभ्यार्थी अच्छा रैंक लेकर आता है, तो उसे उसकी मनपसंद ब्रांच तथा मनपसंद गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिल सकेगा |
  4. इसका परिणाम यह होगा अच्छा प्लेसमेंट मिलेगा, पॉलिटेक्निक कोर्स की फीस कम लगेगी तथा प्रैक्टिकल नॉलेज बहुत अच्छा प्राप्त होगा |

STEP: 3 काउंसलिंग से

  1. कॉमन एंट्रेंस टेस्ट का परिणाम आने के पश्चात अभ्यर्थी को अच्छे पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन प्राप्त करने हेतु काउंसलिंग के लिए आवेदन करने तथा काउंसलिंग अटेंड करनी होती है |
  2. काउंसलिंग प्रक्रिया के दौरान अभ्यार्थी को प्राप्त रैंकिंग के आधार पर मनपसंद कॉलेज तथा मनपसंद टेक्निकल ब्रांच आवंटित की जाती है |
  3. आवंटित कॉलेज में जाकर बची हुई सभी फॉर्मेलिटी पूरी करते ही संबंधित कॉलेज में अभ्यार्थी की एडमिशन प्रक्रिया पूर्ण हो जाती है |

STEP: 4 पसंदीदा ब्रांच के साथ पॉलिटेक्निक कोर्स पूरा करना

पसंदीदा ब्रांच के साथ पॉलिटेक्निक कोर्स (Polytechnic Kya Hai) पूरा करना

  1. काउंसलिंग में प्रत्येक अभ्यर्थी को रैंकिंग के आधार पर कॉलेज आवंटित किया जाता है | अपनी मनपसंद Technical Branch में अभ्यार्थी को ज्यादा से ज्यादा टेक्निकल नॉलेज अर्जित करना चाहिए |
  2. प्रत्येक सेमेस्टर की परीक्षा में समलित विषयों में अधिक से अधिक नंबर हासिल कर अच्छी परसेंटेज के साथ डिप्लोमा कोर्स कंप्लीट करना चाहिए |
  3. इसी परसेंटेज तथा नॉलेज पर ही अभ्यार्थी का Future Depend करता है | इसके परिणाम स्वरूप ही संबंधित व्यक्ति को मार्केट में अच्छी जॉब मिल सकती है या उसे प्लेसमेंट में अच्छी कंपनी पिकअप कर सकती है |

पॉलिटेक्निक करने के फायदे | Polytechnic Benefits

यूँ तो हर कोर्स के अपने फायदे या नुकशान होते हैं | Polytechnic Kya Hai in Hindi aur कैसे करें टॉपिक में यह जानना आवश्यक है, कि पॉलिटेक्निक करने के फायदे आईए समझते हैं

  1. अभ्यार्थी को अधिक पढ़ने की आवश्यकता नहीं होती है | केवल 10वीं या 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात सीधे-सीधे पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन लिया जा सकता है|
  2. पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन मिलने के बाद संबंधित अभ्यार्थी को उसके द्वारा चुनी गयी इंजीनियरिंग ब्रांच में काफी अधिक प्रैक्टिकल नालेज प्रदान किया जाता है, जो निकट भविष्य में उसे काफी लाभ प्रदान करता है|
  3. पॉलिटेक्निक डिप्लोमा धारक अभ्यार्थी के कैरियर के लिए सरकारी तथा प्राइवेट दोनों फील्ड में बराबर संभावनाएं प्राप्त होती हैं | यह अभ्यर्थी के ऊपर Depend करता है, कि वह किस फील्ड में जाना चाहता है|
  4. पॉलिटेक्निक कोर्स(Polytechnic Kya Hai) किया हुआ अभ्यार्थी का चयन सीधे तौर पर Junior Engineer or Supervisor पद हेतु किया जाता है|
  5. पॉलिटेक्निक कोर्स कम्पलीट करने के बाद अभ्यार्थी को BE / Btech (Graduate Engineering Course) में डायरेक्ट Second Year में एडमिशन मिल जाता है |

पॉलिटेक्निक करने के बाद

Polytechnic Kya Hai: पॉलिटेक्निक कोर्स करने के दौरान ही अभ्यार्थी को अपना गोल शुनिश्चित कर लेना चाहिए | जिससे आगे चलकर किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े | पॉलिटेक्निक कोर्स पूर्ण करने के बाद अभ्यार्थी के पास दो विकल्प मौजूद होते हैं-

  1. जॉब सर्च करना– इस विकल्प में भी ऑप्शन मौजूद होता है | यह पूरी तरह से अभ्यार्थी पर डिपेंड करता है, कि उसे गवर्नमेंट सेक्टर में जाना है अथवा प्राइवेट सेक्टर में अपना कैरिएर बनाना है |
  2. इंजीनियरिंग में डिग्री कोर्स पूर्ण करना |

पॉलिटेक्निक के बाद जॉब

  1. पॉलिटेक्निक कोर्स करने के पश्चात जॉब में जाना है, तो अभ्यार्थी को अच्छे प्रतिशत के साथ डिप्लोमा पास करते हुए अधिक से अधिक प्रैक्टिकल नॉलेज प्राप्त करना चाहिए |
  2. इसके अलावा अभ्यार्थी को कोर्स के कंप्लीट होने के दौरान ही प्राइवेट सेक्टर हेतु कॉलेज में केंपस सलेक्शन के लिए तैयारी करनी चाहिए |
  3. इस तैयारी का मुख्य आधार आसानी से इंटरव्यू के सभी राउंड क्लियर करना होना चाहिए, जिससे अधिक से अधिक पैकेज के साथ आपका चयन अच्छी कंपनी में हो सके |

इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करना

  1. यदि अभ्यार्थी द्वारा दूसरा विकल्प चुना जाता है, तो उसे पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स कंप्लीट करने के पश्चात इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन हेतु अप्लाई करना चाहिए |
  2. इसके लिए अभ्यार्थी को पॉलिटेक्निक कोर्स कम्पलीट करने के बाद लैटरल एंट्री एग्जाम में एटेम्पट करना होता है | इसमें प्राप्त रैंक के आधार पर ही अभ्यार्थी को काउंसलिंग के माध्यम से इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन प्राप्त होता है |
  3. पॉलिटेक्निक कोर्स के बाद इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के लिए अप्लाई करने वाले अभ्यर्थी को सीधे तौर पर BE or Btech कोर्से में सेकंड ईयर में एडमिशन मिलता है |

पॉलिटेक्निक के बाद आईआईटी में एडमिशन

Polytechnic Kya Hai: अभ्यार्थी यदि लैटरल एंट्री एग्जाम के माध्यम से इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन नहीं चाहता है, तो उसके पास दूसरे विकल्प के तौर पर डायरेक्ट JEE Mains तथा JEE Advance की परीक्षा के माध्यम से IIT Engineering Collage में एडमिशन मिल सकता है |

इसके लिए अभ्यार्थी को JEE Mains तथा JEE Advance की परीक्षा पास करनी होगी| अभी तक केंद्र अथवा राज्य सरकारों द्वारा पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स करने के बाद सीधे लैटरल एंट्री द्वारा IIT Engineering Collages में प्रवेश हेतु प्रावधान नहीं किया गया है |

पॉलिटेक्निक की फीस कितनी है | Polytechnic Course Fees

पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमीशन हेतु अभ्यार्थी के पास दो विकल्प मौजूद होते हैं | सामान्यत: यदि अभ्यार्थी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट में अच्छा रैंक लाता है, तो उसे गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है | परन्तु इसके विपरीत गवर्नमेंट कॉलेज नहीं मिलने पर अभ्यार्थी के पास अच्छे प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन का रास्ता खुला होता है |

जिन अभ्यर्थियों को गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है, पॉलिटेक्निक की फीस प्रति सेमेस्टर लगभग ₹10,000/- से ₹15,000/- के आसपास फीस लगती है |

इसके विपरीत अच्छे प्राइवेट कॉलेज में पॉलिटेक्निक(Polytechnic Kya Hai) की फीस बढकर लगभग ₹30,000/- से ₹70,000/- के आसपास हो सकती है | यह पूरी तरह से कॉलेज की Reputation पर Depend करता है |

पॉलिटेक्निक की ब्रांचेज | Polytechnic Branches

पॉलिटेक्निक कोर्स करने वाले अभ्यर्थी को वे सभी इंजीनियरिंग ब्रांच प्राप्त हो जाती हैं, जो इंजीनियरिंग कॉलेजों द्वारा संचालित की जाती हैं | Polytechnic Kya Hai इनमें से कुछ प्रमुख Branches निम्नानुसार हैं-

  1. Civil Engineering | सिविल इंजीनियरिंग
  2. Electrical Engineering | इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  3. Mechanical Engineering | मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  4. Engineering in Instrumentation & Control | इंस्ट्रूमेंटेशन और नियंत्रण
  5. Information & Technology | सूचना प्रौद्योगिकी
  6. Engineering in Computer Science | कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग
  7. Architectural Engineering | आर्किटेक्चरल इंजीनियरिंग
  8. Chemical Engineering | रासायनिक अभियांत्रिकी
  9. Fashion Designing & Garment Technology | फैशन डिजाइनिंग और गारमेंट टेक्नोलॉजी

पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्रकार | Polytechnic College Types

वर्तमान में देश के सभी राज्य सरकारों द्वारा मुख्य रूप से तीन प्रकार के पॉलिटेक्निक कॉलेज संचालित किए जा रहे हैं –

  1. गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज
  2. प्राइवेट पॉलिटेक्निक कॉलेज
  3. महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज

गवर्नमेंट तथा प्राइवेट पॉलिटेक्निक(Polytechnic Kya Hai) कॉलेजों में इंजीनियरिंग कॉलेजों द्वारा संचालित लगभग सभी ब्रांचें मौजूद होती हैं |

परन्तु महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज मुख्यतः महिलाओ की आवश्यकता को ध्यान में रखकर डिजाईन किये गए हैं | जिसके कारण इन कॉलेज में इंजीनियरिंग के सभी कोर्स के अलावा भी कुछ अन्य कोर्स जैसे – फैशन डिजाइनिंग, इंटीरियर डिजाइनिंग, सिलाई और बुनाई, कुकिंग, सिरेमिक पेंटिंग, पॉटरी मेकिंग आदि का भी संचालन किया जाता है |

गवर्नमेंट तथा प्राइवेट पॉलिटेक्निक कॉलेज में महिला तथा पुरुष दोनों को ही एडमीशन मिल जाता है, परन्तु महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज केवल महिलाओं के लिए ही संचालित किये जा रहे हैं |

Conclusion

इस तरह हम उम्मीद करते हैं, कि आप सभी लोगों को, “Polytechnic Kya Hai in Hindi aur kaise karen” टॉपिक के माध्यम से काफी जानकारी मिल गयी होगी | पॉलिटेक्निक कोर्स कैरियर के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है, जो अभ्यार्थी टेक्निकल फील्ड में इंट्रेस्ट रखते हैं उनके लिए तो यह किसी सपने के साकार होने जैसा है |

कम मेहनत तथा कम समय में कामियाब इंजिनियर बनना हो तो इस विकल्प को अवश्य चुनें | Polytechnic Kya Hai इस आर्टिकल को शेयर करे

Give a Comment