List of Major International Awards to Prime Minister Narendra Modi In Hindi

International Awards to Narendra Modi- 9 Major Awards List

International Awards to Narendra Modi
International Awards to Narendra Modi

9 Major International Awards to Narendra Modi Awards List (इन्टंरनेशनल अवार्ड्स टू मोदी) के तहत आज हम प्रधानमंत्री मोदी को विश्व के विभिन्न देशों से प्राप्त सम्माानों पर चर्चा करेंगे। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर विभिन्न अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

इन पुरस्कारों के कारण न केवल उनकी बल्कि देश की क्षवि में भी काफी बढ़ोतरी देखने को मिली है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को अब तक प्रदाय किये गए प्रमुख सम्‍मान निम्‍नलिखित हैं-

List of Major International Awards to Prime Minister Narendra Modi In Hindi

  1. Jayed Medal(UAE)
  2. Philip Kotler Presidential Award(Bharat AKA- INDIA)
  3. Seoul Shanti Purashkar(South Korea)
  4. Champion of the Earth 2018(UN)
  5. Grand Color of the State of Philistine(Philistine)
  6. Amir Amanullah Khan Puraskar(Afghanistan)
  7. King Abdullah Ajij Sash Puraskar(Saudi Arabia)
  8. Sent Andrew the Apostle(Russia)
  9. Rule of Nishan Ijujjidin Puraskar(Maldives)

Jayed Medal: International Awards to Narendra Modi

International Awards ke Tahat UAE ka Sarvoch Nagrik Samman: Jayed Medal

International Awards to Narendra Modi के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) द्वारा 04 अप्रैल 2019 को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘जायेद मेडल’ से सम्‍मानित करने का निर्णय लिया गया। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) द्वारा भारत और यूएई के आपसी संबंधों को मजबूत करने के उद्देश्‍य से इस सम्‍मान से प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को सम्‍मानित किया गया है।

UAE ka सर्वोच्च नागरिक सम्मान की विशेषता

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी यूएई के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘जायेद मेडल’ को पाने वाले प्रथम भारतीय बन गए हैं। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) सरकार द्वारा यह सर्वोच्‍च सम्‍मान राजाओं, राष्‍ट्रपतियों, राष्‍ट्राध्‍यक्षों अथवा राज्‍यों के प्रमुखों को प्रदान किया जाता है।

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार यह पुरस्‍कार ‘पीपुल, प्रॉफिट तथा प्‍लानेट’ आदि तीन आधार रेखाओं पर केन्द्रित है। यह पुरस्‍कार प्रत्‍येक वर्ष देश के किसी नेता को ही दिया जाता है।

Jayed Medal Puraskar se सम्‍मानित अन्‍य व्‍यक्ति

भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी से पूर्व इस सम्‍मान से ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ, व्लादिमीर पुतिन, शी जिनपिंग, जॉर्ज डब्ल्यू बुश, निकोलस सरकोजी तथा एंजेला मर्केल को सम्‍मानित किया जा सका है।

Philip Kotler Presidential Award

देश में प्रतिवर्ष देश के सबसे लोकप्रिय नेता को दिए जाने वाले, ‘’फिलिप कोटलर प्रेसिडेंसियल सम्मान’’ से प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी(International Awards to Narendra Modi) को नई दिल्‍ली में 14 जनवरी 2019 को सम्‍मानित किया गया। ‘‘देश को उत्कृष्ट नेतृत्व’’ प्रदाय करने की वजह से उन्‍हें इस सम्‍मान हेतु चयनित किया गया है।

इस सम्‍मान को प्रदाय करने से पूर्व पाया गया, कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा देश के लिए अथक ऊर्जा के साथ निःस्वार्थ सेवा के परिणाम स्‍वरूप देश ने बेहतरीन आर्थिक, सामाजिक और प्रौद्योगिकीय में तीव्रता से विकास किया गया है।

Philip Kotler Presidential Award की विशेषता

नॉर्थवेस्टरन यूनिवर्सिटी, केलॉग स्कूल ऑफ मेनेजमेंट में मार्केटिंग प्रोफेसर फिलिप कोटलर के सम्‍मान में यह पुरूस्‍कार प्रति वर्ष देश में बेहतरीन कार्य करने पर किसी राष्ट्रीय नेता को प्रदाय किया जाता है। प्रोफेसर फिलिप कोटलर द्वारा अभी तक मार्केटिंग (विपणन) विषय पर लगभग 55 से भी अधिक पुस्‍तकें लिखी जा चुकी हैं।

पुरस्‍कार के प्रशस्तिपत्र के अनुसार, इस परस्‍कार हेतु मोदी जी का चयन ‘’देश को उत्‍कृष्‍ट नेत्रत्‍व’’ प्रदान करने तथा मोदी जी द्वारा अथक ऊर्जा के साथ देश की निःस्वार्थ सेवा के कारण  देश के बेहतरीन आर्थिक, सामाजिक और प्रौद्योगिकीय विकास को कारण बताया गया है।

इस प्रशस्तिपत्र में मोदी के नेतृत्‍व के कारण देश को इनोवेशन और मेक इन इंडिया के अलावा इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, अकाउंटिंग और वित्त जैसे पेशेवर सेवाओं के केन्द्र के रूप में पहचाना जाना बताया गया है।

यह भी पड़ें:Samagra ID Pahchan Kya Hai | समग्र आईडी पहचान क्या है?

Seoul Shanti Puraskar: International Awards to Narendra

Seoul Shanti Purashkar: Dakshin Korea

International Awards to Narendra Modi के तहत भारत में अमीरों तथा गरीबों के मध्‍य सामाजिक और आर्थिक अंतर को कम करने में प्रधानमंत्री मोदी की मोदीनॉमिक्स के सराहनीय कार्य को देखते हुए, सियोल शांति पुरस्कार-2018 के चयन हेतु गठित चयन समिति द्वारा अपनी बैठक में इस सम्‍मान के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को चयनित किया गया।

सियोल शांति पुरूस्‍कार की चयन समिति की बैठक का आयोजन चेयरमैन क्वॉन ई-हायोक की अध्यक्षता में की गई। इस चयन समिति में कुल 12 सदस्‍य थे। इस बैठक के बाद 24 अक्टूबर 2018 को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नाम का चयन किया गया। 22 फरवरी 2019 को इस पुरस्‍कार से भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सम्‍मानित किया गया।

Seoul Shanti Puraskar की विशेषता

सियोल शांति पुरस्‍कार से सम्‍मानित होने पर प्रधानमंत्री मोदी(International Awards to Narendra Modi) को एक प्रशस्ति पत्र तथा 2 लाख डॉलर (लगभग 1 करोड 30 लाख रूपए) की धनराशि प्रदाय की गई। इस सम्‍मान निधि को मोदी जी ने नमामि गंगे परियोजना को समर्पित किया गया।

सियोल शांति पुरूस्‍कार की चयन समिति द्वारा विश्‍व से 100 से अधिक प्रत्‍याशियों के कार्य, उद्देश्‍य तथा परिणामों पर गहन मंत्रणा के बाद प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का चयन किया गया।

Seoul Shanti Puraskar से सम्‍मानित अन्‍य व्‍यक्ति

इससे पूर्व 13 अन्‍य व्‍यक्तियों को इस सम्‍मान से सम्‍मानित किया जा चुका है तथा भारतीय प्रधानमंत्री इससे सम्‍मानित होने वाले 14वें व्‍यक्ति हैं। इसके अलावा भारत से वे पहले व्‍यक्ति बन गए हैं, जिसे इस सम्‍मान से सम्‍मानित किया गया है।

यह भी पड़ें:Morena Jila ki Jankari| मुरैना जिला की जानकारी

Champion of the Earth 2018 Puraskar: UN | ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ 2018’ पुरस्कार: यूएन

Champion of the Earth 2018 Purashkar: UN

संयुक्त राष्ट्र के सबसे बड़े पर्यावरण सम्मान से देश के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी(International Awards to Narendra Modi) को सितंबर 2018 में सम्‍मानित किया गया। इसके अलावा संयुक्‍त राष्‍ट्र द्वारा संयुक्‍त रूप से फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों तथा भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ’ अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया।

पर्यावरणीय कार्यों में सहयोग के नये क्षेत्रों को बढ़ावा देने तथा सौर गठबंधन को लेकर अग्रणी एवं उत्साही कार्यों के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को इस सम्‍मान हेतु चयनित किया गया। जबकि फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों का चयन इस पुरूस्‍कार हेतु ‘नीति नेतृत्व’ श्रेणी के तहत किया गया। 26 सितंबर 2018 को संयुक्त राष्ट्र के महासभा की उच्चस्तरीय बैठक में प्रधानमंत्री मोदी को इस अवार्ड हेतु चुनने की जानकारी दी गई थी।

यह भी पड़ें:श्योपुर जिला की जानकारी | Sheopur Jila Ki Jankari

Champion of the Earth 2018 Puraskar की विशेषता

International Awards to Narendra Modi के तहत संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रदाय किया जाने वाला यह अवार्ड छह अलग-अलग वर्गों में विभाजित होता है। इन अवार्ड के विजेताओं को नीति नेतृत्व, विज्ञान व नवाचार, प्रेरणा व एक्शन, लाइफटाइम अचीवमेंट और उद्यमी विजन श्रेणी के तहत चुना जाता है।

मोदी जी द्वारा सतत विकास, जलवायु परिवर्तन पर अपने अनुकरणीय नेतृत्व और सकारात्मक कदम उठाने की वजह से उनको ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ’ अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के नेतृत्व तथा 2022 तक भारत को एकल इस्तेमाल वाले प्लास्टिक से मुक्त कराने के मोदी जी के संकल्प भी इस पुरस्‍कार हेतु उनके चयन में बडी भू‍मिका निभाई गई।

इस पुरस्‍कार हेतु उनका चयन नीति नेतृत्व श्रेणी के तहत किया गया था। संयुक्त राष्ट्र द्वारा इस सम्‍मान की शुरूआत वर्ष 2005 में की गई थी। यह पुरूस्‍कार पर्यावरण के क्षेत्र में असाधारण उपलब्धियों के लिए किसी व्यक्ति विशेष अथवा संगठन को प्रदान किया जाता है।

Champion of the Earth से सम्‍मानित अन्‍य व्‍यक्ति

संयुक्त राष्ट्र की ओर से विभिन्न श्रेणियों में 6 लोगों और संस्थाओं का चयन इस अवार्ड हेतु किया गया था। इन विभिन्‍न श्रेणियों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, इमैनुअल मैक्रों, जोआन कार्लिंग, चीन का जिनजिआंग ग्रीन रूरल प्रोग्राम, कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा और बियोंड मीट एवं इंपोसिबल फूड्स आदि लोगों के नामों को शामिल किया गया था।

यह भी पड़ें: जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंसेज – जाने US ने क्यों GSP को समाप्त कर दिया?

Grand Color of the State of Philistine

International Awards ke tahat Grand Color of the State of Philistine Purashkar:  Philistine

फिलीस्तीन द्वारा विदेशी गणमान्यों जैसे कि, किंग, राष्ट्राध्यक्षों/शासनाध्यक्षों एवं समान पद के व्यक्तियों देश के इस सर्वोच्च सम्मान से सम्‍मानित किया जाता है। फिलिस्तीन के सर्वश्रेष्ठ सम्मान ‘ग्रैंड कॉलर’ सम्मान से 10 फरवरी 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सम्‍मानित किया गया।

International Awards to Narendra Modi के तहत फिलिस्तीन द्वारा अपना सर्वश्रेष्ठ ‘ग्रैंड कॉलर’ सम्मान विदेशी मेहमानों को प्रदाय किया जाता है। भारत और फिलिस्तीन के मध्‍य बेहतर रिस्‍तों को कायम करने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा उठाये गए कदमों के लिए उनको इस सम्‍मान से सम्‍मानित किया गया।

फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास द्वारा यह सम्‍मान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रदाय किया गया।

Grand Color of the State of Philistine Puraskar की विशेषता

फिलिस्तीन में किसी विदेशी मेहमान को दिए जाने वाला ‘ग्रैंड कॉलर’ सम्मान सबसे बड़ा सम्मान है। फिलिस्तीन में यह सम्‍मान किसी देश के राजा, किसी राज्‍य के प्रमुख अथवा ऐसे ही किसी पद पर मौजूद सम्‍मानित व्‍यक्ति को प्रदाय किया जाता है। 

Grand Color of the State of Philistine पुरूस्‍कार से सम्‍मानित अन्‍य व्‍यक्ति

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को दिये जाने से पूर्व यह सम्‍मान चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, साउदी अरब के किंग सलमान तथा बहरीन के किंग हामाद को भी प्रदाय किया जा चुका है।

यह भी पड़ें:Article 370 in Hindi | अर्टिकल 370 इन हिन्दीं

Amir Amanullah Khan Puraskar: Afghanistan

International Awards ke Tahat Aamir Amanullah Khan Purashkar: Afghanistan

अफगानिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, ‘’आमिर अमानुल्लाह खान पुरस्कार’’ से 04 जून 2016 को भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को सम्‍मानित किया गया। अफगान-भारत मैत्री बांध के ऐतिहासिक उद्घाटन के बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को इस सम्‍मान से सम्‍मानित किया गया।

International Awards to Narendra Modi के तहत अफगानिस्तान सरकार द्वारा दिया जाने वाला यह सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह सम्‍मान अफगानिस्तान सरकार अफगानी नागरिकों के साथ-साथ विदेशी नागरिकों को उनकी सेवाओं की प्रशंसा हेतु प्रदाय करती है।

अफगानिस्तान की स्वतंत्रता के शूरवीर या राष्ट्रीय नायक, अमानुल्लाह खान (गाजी) के नाम पर इस पुरस्कार का नामकरण किया गया है। अफगानिस्तान सरकार द्वारा इस पुरूस्‍कार की सुरूआत वर्ष 2006 में की गई थी।

यह भी पड़ें:Ayushman Bharat Yojana in Hindi | आयुष्मान भारत योजना इन हिन्दी

Amir Amanullah Khan Puraskar की विशेषता

इस पुरस्कार का नाम अफगानिस्तान के राष्ट्रीय नायक, अमानुल्लाह खान (गाजी) के नाम पर रखा गया है जो अफगानिस्तान की स्वतंत्रता के शूरवीर थे। राष्ट्रीय नायक, अमानुल्लाह खान (गाजी) द्वारा अफगानिस्तान के आधुनिकतावादी संविधान की अगुवाई की गई थी।

उन्‍होंने देश के संविधान में समान अधिकारों और व्यक्तिगत स्वतंत्रताओं को शामिल करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इस पुरस्कार से सम्‍मानित होने वाले प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी देश के पहले नेता बन गए हैं।

यह भी पड़ें:UAPA Amendment Bill 2019 UPSC | UAPA अमेन्डमेंट बिल 2019 यूपीएससी

King Abdullah Ajij Sash Puraskar: Saudi Arabia

सऊदी अरब के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, ‘’किंग अब्दुल अजीज सैश’’ से 03 अप्रैल 2016 को भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को सम्‍मानित किया गया। सऊदी अरब का सर्वोच्च नागरिक सम्मान उन्‍हें एक विशेष सम्‍मान के तौर पर प्रदाय किया गया है। आधुनिक सउदी राज्य के संस्थापक अब्दुल्लाजीज अल सौद के नाम पर इस सम्‍मान का नामकरण किया गया है।

King Abdullah Ajij Sash Puraskar से सम्‍मानित अन्‍य व्‍यक्ति

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी से पूर्व सऊदी अरब द्वारा अपने सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान, ‘’किंग अब्दुलअजीज सैश’’ से अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरुन तथा जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे आदि को सम्‍मानित किया जा चुका है।

यह भी पड़ें:Chief of Defense Staff Kya hai | चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ क्या है?

Sent Andrew the Apostle: Russia

International Awards to Modi ke Tahat Order of Sent Andru the Apostal: Russia

International Awards to Narendra Modi के तहत 12 अप्रैल 2019 रूस द्वारा भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘’ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल’’ से सम्मानित किया।

रूसी सरकार ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह सम्मान, ‘’रूस तथा भारत के मध्य रणनीतिक साझेदारी को बढ़ावा देने में किए गए असाधारण योगदान के अलावा दोनों देशों के नागरिकों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों को बढ़ावा देने’’ के लिए प्रदान किया गया।

यह भी पड़ें:Madhya Pradesh Rajya ka Gathan | मध्य प्रदेश राज्य का गठन

Sent Andrew the Apostle पुरस्‍कार का विशेषता

रूस में किसी विशेष उल्लेखनीय कार्य करने के लिए रूसी नागरिक अथवा देश-विदेश के प्रमुख नेताओं को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान, ‘’ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल’’ दिया जाता है। रूस में जार पीटर प्रथम ने 17वीं सदी के अंत में ‘’एपोस्टल एंड्रयू’’ के सम्मान में रूस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान की शुरुआत की गई थी।

वर्ष 1917 तक यह पुरस्कार दुनिया भर के 1000 लोगों को प्रदान किया गया, परंतु इसी वर्ष रूस में पनपी रूसी क्रांति के बाद इस पुरस्कार को समाप्त कर दिया गया।

Sent Andrew the Apostle से सम्‍मानित अन्‍य व्‍यक्ति

रूसी राष्ट्रपति बोरिस येल्‍तसिन ने जुलाई 1998 के दौरान इस पुरस्कार को दोबारा शुरू किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस पुरस्कार से सम्मानित करने से पहले इस पुरूस्‍कार से चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, अजरबैजान के पूर्व राष्ट्रपति हैदर अलीयेव तथा कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव को को भी सम्‍मानित किया जा चुका है।

यह भी पड़ें:Samagra ID Pahchan Kya Hai | समग्र आईडी पहचान क्या है?

Rule of Nishan Ijujjidin Puraskar: Maldives

Rule of Nisan Ijujjidin Purashkar: Maldive

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के शुरुआत में मालदीव सरकार द्वारा विदेशी हस्तियों को प्रदाय किए जाने वाले अपने देश के सर्वोच्च सम्मान से सम्मान किया गया। इस पुरस्‍कार को स्वीकार करते हुए उनके द्वारा इस सम्मान को प्राप्त करना पूरे देश के लिए गर्व की बात माना।

अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(International Awards to Narendra Modi) को मिलने वाला प्रथम अंतर्राष्ट्रीय पुरस्‍कार है। इस पुरस्‍कार के लिए मालदीव के राष्‍ट्रपति इब्राहिम मोहम्‍मद सोलिह द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को चुना गया था।

Rule of Nishan Ijujjidin Puraskar की विशेषता

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में भारत और मालदीव के बीच दोस्ती को मजबूती मिलने तथा दोनों देशों के मध्‍य दशकों पुराने रिश्तों पर उत्तरोत्तर कार्य आगे बढ़ने के आधार पर मालदीव द्वारा इस सम्‍मान के लिए मोदी जी का चयन किया गया।

यह भी पड़ें:Motor Vehicle Act 2019 | मोटर व्हीकल एक्ट 2019 क्या है?

Give a Comment